केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार को कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने राज्यसभ


नई दिल्ली: सरकारी दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल की कर्मचारी यूनियनों के लिए बुलाया है एक राष्ट्रव्यापी भूख हड़ताल पर बृहस्पतिवार करने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में देरी के निष्पादन रुपये 69000 करोड़ रुपये के पुनरुद्धार पैकेज की घोषणा सरकार द्वारा
बीएसएनएल (एयूएबी) के सभी संघों और संघों ने 24 2020 फरवरी को एक देशव्यापी भूख हड़ताल का आयोजन किया है । बीएसएनएल के संबंध में पुनरुत्थान पैकेज के शीघ्रता से कार्यान्वयन की मांग करने के साथ ही कर्मचारियों की शिकायतों के निपटारे की मांग करने के लिए इस भूख हड़ताल का आयोजन किया जा रहा है ए। यू। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। ए। बी ने एक बयान में कहा
अक्टूबर 2019 में केंद्र सरकार ने बीएसएनएल और एमटीएनएल को हानि पहुंचाने के लिए 68751 करोड़ रुपए के पुनरुद्धार पैकेज को मंजूरी दी जिसमें 4जी स्पेक्ट्रम आवंटन और स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) के साथ-साथ उनका विलय भी शामिल है ।
यूएबी ने कहा कि पुनरुद्धार पैकेज की मुख्य विशेषता 4जी स्पेक्ट्रम का आबंटन है बीएसएनएल के शेयर के साथ 15000 करोड़ रुपए के बराबर राशि जुटाने के लिए संप्रभु गारंटी जारी करना 8500 करोड़ रुपए और एमटीएनएल के लिए 6500 करोड़ रुपए दीर्घकालिक बांड जारी करने के माध्यम से संपत्ति के मुद्रीकरण और वीआरएस के कार्यान्वयन
इनमें से केवल वीआरएस ही लागू किया गया है जिसके माध्यम से 78569 बीएसएनएल कर्मचारियों को घर भेज दिया गया है यह नोट करना बेहद परेशान है कि बीएसएनएल को 4 महीने के 4जी स्पेक्ट्रम के अंतराल के बाद भी आवंटित नहीं किया गया है।
इसने कहा कि सरकार ने अभी तक बीएसएनएल को संप्रभु गारंटी जारी नहीं की है ताकि वह दीर्घावधि बांड जारी करके 8500 करोड़ रुपए बढ़ा सके ।
बीएसएनएल की परिसंपत्तियों के मुद्रीकरण की प्रक्रिया भी घोंघा की गति से आगे बढ़ रही है । एजीआर की गणना के संबंध में भारत के फैसले के सुप्रीम कोर्ट ने दूरसंचार क्षेत्र में अनिश्चितताओं का कारण है जिसके कारण बैंकों को भी बीएसएनएल के लिए बहुत जरूरी ऋण का विस्तार करने के लिए तैयार नहीं हैं बयान में कहा गया है कि
बीएसएनएल कर्मचारी निकाय ने कहा कि 4जी स्पेक्ट्रम आवंटन में देरी के कारण और धन की अनुपलब्धता के कारण यह समझा जाता है कि बीएसएनएल की 4जी सेवा 2020 के अंत से पहले शुरू होने की संभावना नहीं है ।
इस देरी से बीएसएनएल के लिए पुनरुद्धार पैकेज का अनुमोदन करने में केंद्रीय मंत्रिमंडल की भावना के खिलाफ ज्यादा है मंत्री संचार () का ध्यान पहले से ही जरूरत से ज्यादा कार्यशील पूंजी के साथ बीएसएनएल प्रदान करने की आवश्यकता के लिए तैयार किया गया है लेकिन कुछ भी नहीं हुआ है बयान में कहा
एयूएबी राहत पैकेज के बावजूद कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिल रहा है और ठेका श्रमिकों की मजदूरी पिछले 10 महीनों के लिए भुगतान नहीं किया गया है कि कहा
इन परिस्थितियों में औब पहले से ही फरवरी को देशव्यापी दोपहर के भोजन घंटे प्रदर्शनों का आयोजन किया गया है 11 2020 इस भुखमरी हमलों की निरंतरता में 24 फरवरी को पूरे देश में और बीएसएनएल प्रबंधन से शीघ्र कार्रवाई करने के लिए आग्रह किया जा रहा है।

comments