Adblock Detected!

*Please disable your adblocker or whitelist dropgalaxy.com
*Private/Incognito mode not allowed.
error_id:202

सेबी ने करवी-प्रकार की धोखाधड़ियों से निपटने के लिए शेयरों के लिए विशिष्ट आईडी की जांच की


बेंगलुरू: सेबी के शेयर बाजार नियामक में क्या हुआ जैसे धोखाधड़ी को रोकने के लिए डीमैट किए गए शेयरों के लिए एक अनूठी पहचान पर विचार कर रहा है जो स्वामित्व का एक निशान स्थापित करेगा
युग स्विचिंग शेयरों संभव नहीं था इससे पहले एक शेयर प्रमाण पत्र हाथ बदल के रूप में लेनदेन प्रमाण पत्र पर ही दर्ज किए गए डीमैट किए गए शेयरों में स्थानान्तरण प्रलेखित रहे हैं लेकिन एक अद्वितीय पहचान के अभाव में वे अपने ही थे के रूप में अगर अपने खाते में आयोजित ग्राहकों के शेयरों प्रतिज्ञा करने के लिए करवी के लिए यह संभव बनाया सेबी और एनएसई दोनों वर्तमान में इस धोखाधड़ी की जांच कर रहे हैं
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की । इसमें बजाज फाइनैंस को 300 करोड़ रुपए का बकाया है
भौतिक युग में हर शेयर तीन नंबर था — प्रमाणपत्र संख्या और एक विशिष्ट संख्या है जो कि कंपनी का हिस्सा है और फोलियो संख्या जो स्वामित्व के रूप में चिह्नित करने के लिए अद्वितीय थे
प्रत्येक लेन-देन के बाद सेबी के एक अधिकारी ने विचार विमर्श के बारे में पता कहा कि नए मालिकों फोलियो नंबर प्रमाण पत्र के रिवर्स पर दर्ज किया जाएगा
सूत्रों का कहना है सेबी शेयरों के लिए अद्वितीय आईडी के ऐतिहासिक रिकॉर्ड बनाए रखने के लिए ब्लोकचेन या हैशोग्राफ जैसे विकेन्द्रीकृत खातों को रोजगार पर लग सकता है
डीमैट शेयरों के बाद — मुद्रा की तरह-अनुसरणीय बन गया अगर अद्वितीय प्रमाण पत्र संख्या अस्तित्व में किया गया था आखेट देख रही बैंकों के बिना अपने स्वयं के रूप में अपने ग्राहकों के शेयरों का वादा कभी नहीं हो सकता था अधिकारी ने कहा कुछ 95000 प्रभावित ग्राहकों के करवी लगभग 83000 ग्राहकों की प्रतिभूतियों लौटे अब उधारदाताओं के शेयरों पर एक धारणाधिकार का दावा करने की अपील की है

comments